MP Board Class 8th Special Hindi पत्र-लेखन

(1) मित्र को सफलता के लिए बधाई-पत्र

24, गाँधी नगर,
ग्वालियर
23 मई,..

प्रिय कनिष्क,
कल दैनिक ‘अमर उजाला’ में तुम्हारा परीक्षाफल देखने पर ज्ञात हुआ कि तुम परीक्षा में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हो। तुम्हारी सफलता पर मुझे अत्यधिक प्रसन्नता का अनुभव हुआ। सबसे प्रथम अपनी इस सफलता पर मेरी हार्दिक बधाई स्वीकार करो। आशा है कि तुम भविष्य में भी इसी प्रकार सफलता की डगर पर अग्रसर होते रहोगे।

शुभकामनाओं सहित
अक्षय कुलश्रेष्ठ

(2) अवकाश हेतु प्रार्थना-पत्र

सेवा में,
प्रधानाचार्य महोदय,
शासकीय उ. मा. विद्यालय,
भोपाल (म. प्र.)
विषय-अस्वस्थ होने पर अवकाश हेतु प्रार्थना-पत्र। मान्यवर !
मैं रात से तीव्र ज्वर से पीड़ित हूँ, शरीर में अत्यधिक दर्द भी है। इसलिए मैं पाठशाला में उपस्थित होने में असमर्थ हूँ।
अतः श्रीमान् जी से विनम्र निवेदन है कि मुझे दिनांक 8 अगस्त से 14 अगस्त, 20 …..” तक अवकाश प्रदान कर अनुग्रहीत करें।

सधन्यवाद
दिनांक ………………….

प्रार्थी
रजनीकान्त
कक्षा 8(ब)

(3) पिता को वार्षिक परीक्षा की
जानकारी देने हेतु पत्र

छात्रावास,  मिशन उ. मा. विद्यालय,
जबलपुर (म.प्र.)
28 मार्च, ……

आदरणीय पिताजी,
सादर चरण स्पर्श।
कल प्रातः आपका पत्र मिला। मैं यहाँ पर स्वस्थ एवं सानन्द हूँ, आशा है कि भगवान की कृपा से आप सब भी सकुशल होंगे।
मैं यहाँ पर अपनी वार्षिक परीक्षा की तैयारी करने में जुटा हुआ हूँ। इसलिए पत्र देने में विलम्ब हुआ। वार्षिक परीक्षा सम्भवतः 10 अप्रैल, 20….. से शुरू होगी।
मैं साल के प्रारम्भ से ही पूर्ण मनोयोग से पढ़ाई कर रहा हूँ। अत: मुझे अपनी परीक्षा में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण होने की पूर्ण आशा है। आपका आशीर्वाद ही इस दिशा में मेरे लिए आशा का सम्बल सिद्ध होगा।
माताजी को चरण स्पर्श तथा छोटे भाई-बहनों को मेरा ढेर सारा प्यार।

पत्रोचार की प्रतीक्षा में
आपका प्रिय पुत्र
कनिष्क

(4) स्थानान्तरण प्रमाण-पत्र हेतु
आवेदन-पत्र

सेवा में,
प्रधानाचार्य,
उ. मा. विद्यालय, जबलपुर (म. प्र.)
विषय-स्थानान्तरण प्रमाण-पत्र हेतु आवेदन। मान्यवर !
सेवा में विनम्र प्रार्थना है कि मैं आपकी पाठशाला का कक्षा 8वीं (स) का छात्र हूँ।।
मेरे पिताजी का स्थानान्तरण नहर विभाग में ग्वालियर हो गया है। ऐसी दशा में मैं भविष्य में ग्वालियर के ही किसी विद्यालय में अध्ययन करूँगा।
‘अतः आपसे सानुरोध प्रार्थना है कि मुझे स्थानान्तरण प्रमाण-पत्र प्रदान करने की कृपा करें। मेरे पास पाठशाला की कोई सामग्री नहीं है तथा शुल्क भी अदा कर दिया है।

सधन्यवाद
दिनांक …..

प्रार्थी आपका आज्ञाकारी शिष्य
अक्षय कुमार,
कक्षा 8 (स)

(5) अपने क्षेत्र में लाउडस्पीकर से होने वाले ध्वनि प्रदूषण को
रोकने के लिए एक शिकायती पत्र जिला कलेक्टर को लिखिए।

श्रीमान्,
जिलाधीश महोदय,
ग्वालियर (म. प्र.)
विषय-लाउडस्पीकर से होने वाले ध्वनि प्रदूषण को रोकने के सम्बन्ध में। महोदय,
मैं दानाओली क्षेत्र का निवासी हूँ। यहाँ आस-पास लाइट एण्ड साउण्ड की बहुत-सी दुकानें हैं। साथ ही अनेक बैण्ड वाले हैं। ये सभी दिन-रात लाउडस्पीकर से तेज ध्वनि से रिकार्डिंग करते रहते हैं। पास में ही एक अस्पताल भी है जिससे वहाँ मरीज परेशान रहते हैं। कृपया इस तेज ध्वनि से उत्पन्न होने वाले ध्वनि प्रदूषण को रोकने के आदेश सम्बन्धित थाने के स्टाफ को करने का कष्ट करें।

मैं आपका आभारी रहूँगा।
दिनांक …….

प्रार्थी
राजीव कुमार

(6) अपने प्रधानाध्यापक को शुल्क मुक्ति
हेतु प्रार्थना-पत्र लिखिए।

सेवा में,
प्रधानाध्यापक महोदय,
शासकीय उ. मा. विद्यालय,
मुरैना (म. प्र.)
विषय-शुल्क मुक्ति हेतु प्रार्थना-पत्र। महोदय,
विनम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय में कक्षा 8 (अ) का छात्र हूँ। मेरे दो और भाई भी आपके विद्यालय में अध्ययनरत्
प्रार्थी
मेरे पिताजी की आर्थिक स्थिति इतनी इच्छी नहीं है कि वे हम तीनों भाइयों के विद्यालय शुल्क का भुगतान कर सकें।
अतः श्रीमान् जी से प्रार्थना है कि मेरा शुल्क माफ कर मुझे
शुल्क-मुक्ति प्रदान करने का कष्ट करें।
आपकी अति कृपा होगी।
सधन्यवाद
दिनांक …………….

प्रार्थी
राजकुमार गाँधी
कक्षा 8 (अ)

(7) विद्यालय में बाल दिवस के आयोजन की जानकारी देते हुए
माताजी को पत्र लिखिए।

कक्ष संख्या-24
बालक हॉस्टल, राजकीय विद्यालय
मुरैना (म. प्र.)
दिनांक 16-11-20….

पूजनीया माता जी,
सादर चरण स्पर्श।
मैं कुशलतापूर्वक हूँ। आपकी कुशलक्षेम की कामना करता हूँ। त्रैमासिक परीक्षा हो चुकी है। परीक्षाफल अच्छा रहा है। परिश्रम करता रहूँगा।

इस वर्ष 14 नवम्बर को विद्यालय में बाल दिवस पर अनेक कार्यक्रम हुए। यह बाल दिवस वास्तव में चाचा नेहरू का जन्मदिन है। चाचा नेहरू बच्चों से बहुत प्रेम करते थे। अत: बच्चों का सम्पूर्ण विकास करने के उद्देश्य से अपने जन्मदिन को उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया।

बालकों ने कविताएँ, भाषण और नेहरू जी पर आधारित नाटक प्रस्तुत किए। आचार्यों ने श्री नेहरू जी के जीवन, शिक्षा व देशभक्ति पर भाषण दिए। पं. नेहरू हमारे देश के पहले प्रधानमन्त्री थे। वे भारत माता से बहुत प्रेम करते थे। वे कहते थे कि भारत की उन्नति बालकों के विकास पर निर्भर है। अन्त में सभी विद्यार्थियों को मिठाई वितरित की गई।

अन्त में, मैं चाहता हूँ कि आप अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देती रहें। मुझे अपना आशीर्वाद दें जिससे मैं पढ़-लिखकर स्वयं को देश का अच्छा नागरिक सिद्ध कर सकूँ। पिताजी को प्रणाम। रिंकू को प्यार।

आपका प्रिय बेटा
राहुल पाठक

(8) साँची घूमने जाने के लिए प्रधानाचार्य को
अनुमति/ अवकाश हेतु आवेदन-पत्र लिखिए।

सेवा में,

प्रधानाचार्य महोदय,
राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय
खजूरी बाजार, इन्दौर (म. प्र.)

मान्यवर,

नम्र निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय की कक्षा-8 का छात्र हूँ। मैं अपनी कक्षा का नायक हूँ मेरे अन्य दस सहपाठियों
ने निश्चय किया है कि हम साँची के स्तूपों का अवलोकन करने | जाएँ। हम सभी ने वहाँ पहुँचने के लिए जैन ट्रैवल्स की बस भी
भाड़े पर ले ली है। हम लोग कल दि. 20.8.20…. को अपनी यात्रा पर चल देंगे। अतः आपसे प्रार्थना है कि मुझे व मेरे अन्य नौ सहपाठियों को वहाँ जाने की अनुमति व कम से कम तीन दिन का अवकाश देने की कृपा करें।
अवकाश 20.08.20…. से 22.08.20…. तक मंजूर कर कृतार्थ करें।

आपके आज्ञाकारी शिष्य
मोहन व अन्य छात्र
कक्षा 8

MP Board Class 8th Hindi Solutions

Leave a Reply